उत्तरप्रदेश देश-विदेश स्वास्थ

जर्जर मकान को तोड़ते समय तीन लोग मलवे में दबे एक की मौके पर ही मौत।

जर्जर मकान को तोड़ते समय तीन लोग मलवे में दबे एक की मौके पर ही मौत।

परिवार के लोगों का रो-रो कर हुआ बहुत बुरा हाल अपने परिवार का जीविका चलाने वाला वही एक था।

जिला ब्यूरो चीफ योगेश गोविन्द राव कवीर मिशन समाचार पत्र कुशीनगर उत्तर प्रदेश।

कुशीनगर रामकोला थाना क्षेत्र के हरपुर माफी के कुँवर छपरा गांव में सुबह के समय में अपने ही जर्जर मकान की छत को तोड़ते समय छत सहित तीन लोग गिरे तथा छत के निचे दब गये ग्रामीणों की सहायता से छत से दबे तीनो घायलों को निकाला गया और रामकोला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया जहा इलाज कर तीनो घायलों शम्भू पुत्र शंकर उम्र 42 वर्ष, प्रभु पुत्र शंकर 36 वर्ष, शंकर पुत्र जितई उम्र 60 वर्ष को जिला अस्पताल पडरौना के लिए रेफर कर दिया जिसमे शम्भू खट्टीक पुत्र शंकर को रास्ते में ही मौत हो गयी।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया रामकोला थाना क्षेत्र के ग्राम सभा हरपुर माफ़ी टोला कुँवर छपरा गांव में रविवार की सुबह शंकर खट्टीक पुत्र जितई उम्र 60 वर्ष अपने दोनों लड़को शम्भू खट्टीक पुत्र शंकर उम्र 42 वर्ष, प्रभु पुत्र शंकर उम्र 36 वर्ष के साथ अपने नई मकान के सामने पुरानी जर्जर मकान की छत को छिन्नी,

हथौड़ा से तोड़ रहे थे कि अचानक छत टूट कर निचे गिर गया तीनो जरजर छत पर खड़े थे कि छत के निचे दब गये छत गिरते ही तेज आवाज हुई आवाज सुन कर अगल बगल के लोग दौड़ कर आये तो देखे यह छत के निचे दबे हुए हैं ग्रामीणों ने टूटा हुआ छत उठा कर तीनो घायलों को बाहर निकाला जिसमे शम्भू उम्र 42 वर्ष मरणासन्न अवस्था में हो गये थे

परिजनों ने तीनो घायलों को रामकोला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया जहा डाक्टरों ने तीनो घायलों का इलाज कर जिला अस्पताल पडरौना के लिए रेफर कर दिया जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही शम्भू ने अपना दम तोड़ दिया था जबकि जिला अस्पताल के डाक्टरों ने शम्भू को मृत घोषित कर दिया जबकि प्रभु खट्टीक और शंकर खट्टीक का इलाज हो रहा हैं

रामकोला पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया शभु खट्टीक की पत्नी सरोज देवी का रो रो कर बुरा हाल हैं शभु के छः सन्तानो में सभी पुत्री हैं जिसमे इन्दु उम्र 24 वर्ष, प्रियंका 22 वर्ष, निशा उम्र 18 वर्ष, सपना उम्र 16 वर्ष, काजल उम्र 13 वर्ष और रिशु उम्र 12 वर्ष हैं इन्दु की शादी कर दिए हैं जबकि अभी पांच लड़कियों का शादी करना बाकी हैं परिवार की स्थिति बहुत दयनीय वही कमाता खिलाता था।

About The Author

Related posts