भोपाल मध्यप्रदेश राजनीति

बौद्ध विहार संत रविदास आश्रमों के भव्य निर्माण हेतु दिया सुझाव पत्र कमलनाथ जी बोले सरकार बनते ही काम करने का दिया भरोसा

बौद्ध विहार संत रविदास आश्रमों के भव्य निर्माण हेतु दिया सुझाव पत्र कमलनाथ जी बोले सरकार बनते ही काम करने का दिया भरोसा

संत रविदास फाउण्डेशन मंडल में पूर्व मंत्री सुरेंद्र चौधरी, विधायक सुरेश राजे, राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश नंदमेहर सहित सैकड़ों प्रतिनिधियों ने दिया सुझाव /प्रस्ताव

भोपाल। समस्त अनुसूचित जाति वर्ग में लम्बे समय से समाज की अगुवाई करने वाला सतगुरु संत रविदास कल्याण फाउंडेशन भारत जो कि संत रविदास वंशीय सभी उपजातियों को लेकर समाज में बदलाव व नव ऊर्जा पैदा कर समाज के अराध्य, महापुरुषों जैसे भगवान बौद्ध, संत रविदास, संत कबीर साहेब, महर्षि बाल्मीकि, सेन महाराज, सुदर्शन महाराज, ज्योतिबा फुले, बाबा गाडसे, वीर शहीद मनीराम अहिरवार एवं भारत रत्न बाबा साहब डॉ अम्बेडकर जी जैसे महापुरुषों के स्थानों को बहुमंजिला इमारत बनाने, स्मारक बनवाने, पार्क, छात्रवासों के बनाने, जहां पर वाचनालय हो, सोशल कार्य हो और सामाजिक, शैक्षणिक व आर्थिक गतिविधियां संचालित हो ताकि अतिपिछड़ा वर्ग में जागरूकता पैदा हो। तथा आने वाली पीढ़ियों को अपने देश, समाज, संस्कृति, इतिहास परंपराओं इत्यादि से बाकिफ रहे। देश के महापुरुषों का इतिहास अमर बना रहे।

संत रविदास कल्याण फाउंडेशन भारत के प्रतिनिधियों का एक मंडल ने पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी से मुलाकात कर सुझाव पत्र सौंपा। फाउण्डेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महेश नंदमेहर ने श्री कमलनाथ जी को बताया कि 30 जुलाई 2023 को भोपाल में सभी अनुसूचित जाति वर्ग के सामाजिक संगठनों मैं लगभग 110 सामाजिक संगठनों ने निम्नांकित प्रस्ताव पारित किये है – सभी महापुरुषों के भवन , स्मृति स्थल जो वर्षों पुराने बने हैं। उन्हें उक्त भूमि का अधिकार पत्र संस्थान को दिया जाये। तथा सभी महापुरुषों के आस्था स्थलों के नवनिर्मित करने हेतु विस्तार करने हेतु संस्थाओं की मांग राशिनुसार दी जायें।

जिसमें उन सभी सामाजिक महापुरुषों के स्थान पर बहुमंजिला भवन बनाया जाये जो कि समाज के विभिन्न सामाजिक सरोकारों के लाभ हेतु चिरस्मरणीय रहेगा। सम्पूर्ण मध्यप्रदेश में गरीबी रेखा से नीचे रह रहे परिवार को आवासीय योजना का लाभ शहरों में दिया गया है। उन सभी आवासों का कर्ज या लोन माफ कर आवास का मालिकाना हक अधिकार दिया जाये। मध्यप्रदेश में अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम की सम्पूर्ण योजनाएं भाजपा सरकार के द्वारा बंद कर दी है।उन सभी कल्याणकारी योजनाओं को सरकार बनते ही पुनः लागू कर शुभारंभ की जाये। मध्यप्रदेश के अनुसूचित जाति विशेष रूप से महार महाराष्ट्रीयन समाज को मध्यप्रदेश में जाति प्रमाण पत्र बनवाने में 1950 का रिकार्ड मांगा जाता है।उसे 20 वर्ष का मानकर जाति प्रमाण पत्र बनवाने की प्रकिया की जाये। मध्यप्रदेश में इन्दिरा आवास योजना के तहत मकान दिए गए है। जबकि शहरी क्षेत्रों में उनके आशियाने झुग्गी झोपड़ी तोड़कर विस्थापन किये जाने का प्रावधान था। ऐसे सभी गरीब लोगों का आवासीय कर्ज माफ किया जाये। तथा गरीबों को बीजेपी सरकार ने गुमराह कर छोटे कारोबार धंधा करने के नाम पर दस बीस हजार का लोन जबरन देकर उन्हें डिफाल्टर बैंक से किया गया है। ऐसे सभी कर्ज माफ किया जाये।

उपरोक्त अतिआवश्यक सुझावों का पत्र सतगुरु संत रविदास कल्याण फाउंडेशन भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महेश नंदमेहर, मूलचंद मेधोनिया, दिलावर ओसवाल, प्रहलाद रंगीले, अशोक चिंतामणि, रामविलास तिलवारी, श्रीमती सीमा राठौर, मुकेश अहिरवार, लोकेश नंदमेहर, कालका प्रसाद अहिरवार, विजय सुरणकर, मानसिंह अहिरवार बहादुर सिंह अहिरवार, बलवान सिंह कुशवाहा, लालाराम सेन माखन लाल रजक विनोद कुमार वंशकार, परसराम बाल्मीकि इत्यादि सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने पूर्व मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह चौधरी एवं डबरा विधायक श्री सुरेश राजे जी के साथ सुझाव पत्र सौंपा गया है।

यह सुझाव फाउंडेशन भारत के द्वारा श्री कमलनाथ जी को सौंपा जिन्होंने आश्वस्त कर पूर्ण रूप से भरोसा दिलाया है कि सभी कार्यों को दो वर्ष के अंदर कर दिए जाएंगे। मध्यप्रदेश के जिला नरसिंहपुर चीचली के स्वतंत्रता सेनानी वीर मनीराम अहिरवार जी की यादगार में उनके सम्मान में विशाल स्मारक मूर्ति और बहुमंजिला छात्रावास उनके उत्तराधिकारी परिवार को सौंपा जायेगा। श्री कमलनाथ जी के भरोसा पर सभी ने धन्यवाद ज्ञापित किया और उनके मुख्य अतिथि में विशाल आयोजन भोपाल में आयोजित करने के लिए समय मांगा गया है।

इन्हें भी पढ़े :

बहुजन समाज पार्टी और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी का एमपी में गठबंधन BSP 178 पर तो गोगपा 52 सीटो पर लड़ेगी चुनाव

सत्यम् शिवम् सुंदरम् – राहुल गांधी

UGC NET December Exam 2023: दिसंबर 2023 यूजीसी नेट परीक्षा के लिए पंजीकरण प्रारंभ, जानें आवेदन प्रक्रिया (Online Registration Process), पात्रता मानदंड (Eligiblity rules)

विधानसभा निर्वाचन के अन्तर्गत उपयोग में आने वाली वस्तुओं की बाजार दर निर्धारण के सम्बन्ध में राजनैतिक दल के प्रतिनिधियों की बैठक सम्पन्न

About The Author

Related posts