राजगढ़

शरीर रूपी मिट्टी के दीपक में ज्ञान की लो से बुझी हुई आत्मा की ज्योति को जलाएं – ब्रह्माकुमारी वैशाली दीदी

शरीर रूपी मिट्टी के दीपक में ज्ञान की लो से बुझी हुई आत्मा की ज्योति को जलाएं – ब्रह्माकुमारी वैशाली दीदी

पचोर /राजगढ़। कबीर मिशन समाचार विष्णु प्रसाद भिलाला

पांच दिवसीय दीपावली के पावन पर्व पर बिजली विभाग के स्टाफ गणों का स्वागत सम्मान ब्रम्हाकुमारी बहनों के द्वारा किया गया।दीपोत्सव का कार्यक्रम नगर में ब्रह्माकुमारी बहने कुछ नए ढंग से हर वर्ष मनाती आ रही है जिसमें कोई ना कोई लोक कल्याण का संदेश अवश्य ही होता है! विश्व को एक सूत्र में बांधने का काम विश्व को एकता और शांति प्रदान करने वाली विश्व में अंधकार को मिटाकर ज्ञान का प्रकाश फैलाने वाली ब्रह्माकुमारी बहनों ने नगर के विद्युत विभाग के स्टाफ गणों का स्वागत और सम्मान तिलक बेच और स्मृति चिन्ह से किया ।

जीवन में ज्ञान का प्रकाश फैलाने के लिए बुझी हुई आत्मा की पुनः ज्योति जलाने के लिए यह दीपावली का पर्व मनाया जाता है उक्त विचार ब्रह्माकुमारी सीमा दीदी ने कहे उन्होंने बताया कि हमारे विचार जितने सकारात्मक होंगे उतना ही हम अध्यात्म की ओर बढ़ते चले जाएंगे आज हमारे जीवन में अज्ञान अंधेरा छाया हुआ है, जिसके कारण हम सही निर्णय नहीं ले पाते हैं। जीवन में दुख अशांति परेशानी बढ़ती जा रही है ,स्थूल धन होते हुए भी हम सुखी नहीं हैं, साधन होते हुए भी सुख नहीं है, सच्ची शांति नहीं इसलिए हमें स्थूल धन के साथ-साथ ज्ञान धन की भी आवश्यकता है ज्ञान को प्रकाश भी कहा जाता है जब तक हमारे अंदर अर्थात मन के अंदर सकारात्मक चिंतन नहीं चलेगा तब तक हम किसी भी प्रकार के सुख शांति से वंचित रहेंगे और जीवन अंधकार में रहेगा उन्होंने आगे कहा कि संस्था के द्वारा राजयोग ध्यान सिखाया जाता है जिसके माध्यम से हम जीवन में सच्ची सुख शांति प्राप्त कर सकते हैं। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन से की गई, कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में विकास करोड़िया (नगर परिषद अध्यक्ष) गिर्राज पाटीदार (कनिष्ठ यंत्री )बलवंत सिंह रघुवंशी (सहायक प्रबंधक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया) एवं नगर के विद्युत विभाग से श्री कृष्णा लोधा ,महेंद्र शर्मा ,श्री राम नायक ,सुनील पुष्पद ,भगवान सिंह लववंशी, हरिनारायण शर्मा ,मोहन लाल शर्मा ,मांगीलाल नागर ,भैरूसिंह शर्मा सुनील पटेल एवं गणमान्य लोग उपस्थित हुए।

बलवंत सिंह रघुवंशी जी ने कहा कि पहले जो मिठाई बनाई जाती थी वह घर पर बनाई जाती थी उसमें इसने और प्यार समाया होता था और एक दूसरों को हम मुख्य मीठा कराते थे जिसके कारण समाज में इसमें और प्यार बना रहता था आज हम मिठाई बाजार की खरीद कर लाते हैं वही खाते और खिलाते हैं जो हम सिर्फ औपचारिक तौर पर करते रहते हैं सभी से उन्होंने निवेदन किया है कि घर में कुछ ना कुछ मिठाई अवश्य बनाएं और अपने पड़ोसियों का मुख मीठा करेंमीठा बोल बोले तभी हमारी दीपावली सार्थक होगी।गिर्राज पाटीदार ने कहा कि जैसा हम देखेंगे वैसा हम करेंगे जैसा हम करेंगे वैसी हमारी आदत हो जाएगी और हमारी आदत हमारे संस्कार हो जाएंगे इस दीपावली पर हम विचारों को शुद्ध करें।विकास करोड़िया ने कहा कि मैं रोज नगर भ्रमण पर रहता हूं कोई भी किसी प्रकार की सेवा का अवसर मुझे मिलता है तो मैं अपने आप को भाग्यशाली समझता ब्रह्माकुमारी बहने सभी त्यौहार बहुत अच्छी तरह से मनाते हैं इसके लिए उनको मैं बहुत-बहुत धन्यवाद देना चाहता हूं। सभी नगर वासियों को दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाएं देता हूं।नन्हे-मुन्ने बच्चों ने नृत्य के द्वारा दीपावली पर्व का आह्वान किया।कार्यक्रम के अंतिम पलों में सभी ने दीपक जलाएं। ईश्वरीय वरदान और प्रसाद का वितरण किया गया।आभार ब्रह्माकुमारी वैशाली दीदी ने माना।

About The Author

Related posts