माॅडल काॅलेज के प्राचार्य एवं मोटिवेशन स्पीकर डाॅ. प्रमोद पंडित ने कहा-

माॅडल काॅलेज के प्राचार्य एवं मोटिवेशन स्पीकर डाॅ. प्रमोद पंडित ने कहा-
आपके जीवन का टर्निंग प्वाइंट है, आज ही अपनी भूमिका के बारे में सोचिये
मन-मस्तिष्क के भय, दुविधा और अंधकार को दूर करने के लिए अन्तज्र्ञान का दीपक जलायें-डाॅ. पंडित

बड़वानी 21 अक्टूबर 2022/दूध एक ऐसा पदार्थ है, जिससे हजारों प्रोडक्ट बनाये जा सकते हैं। आप चाहें तो दूध से रबड़ी, खोया एवं मिठाई बनाकर उसकी उपयोगिता और गुणवत्ता में बहुत वृद्धि कर सकते हैं। इसी तरह एक विद्यार्थी के रूप में आप भी दूध की तरह हैं। शिक्षण संस्था, शिक्षक और आपके समन्वित प्रयासों से आप स्वयं को जिस रूप में चाहें, उस रूप में ढाल सकते हैं। आप एक उपयोगी एवं मूल्यवान व्यक्ति बन सकते हैं। इसके लिए निरंतर प्रयास, सही दिशा, सकारात्मक सोच आवश्यक है। आपको स्वयं पर विश्वास करना होगा। दुनिया में कोई भी कार्य छोटा या बड़ा नहीं होता, आप उस कार्य को जिस ढंग से करते हैं, उससे उस कार्य का मूल्य निर्धारित होता है। आप जो भी कार्य करें उसकी पूर्ण इज्जत करें और पूरी लगन से तथा पूरी इच्छा के साथ उसे सम्पन्न करें। काॅलेज लाइफ आपके जीवन का टर्निंग प्वाइंट है। इसकी शुरुआत में ही आप अपनी भूमिका तय करें और उस पर निष्ठापूर्वक कार्य प्रारंभ करें। मन-मस्तिष्क के भय, दुविधा और अंधकार को दूर करने के लिए अन्तज्र्ञान का दीपक जलायें। ये बातें माॅडल काॅलेज बड़वानी के प्राचार्य एवं मोटिवेशनल स्पीकर डाॅ. प्रमोद पंडित ने शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बड़वानी के स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ द्वारा व्यक्तित्व विकास पर आयोजित कार्यशाला में विद्यार्थियों से कहीं। प्राचार्य डाॅ. एनएल गुप्ता के मार्गदर्शन में इस कार्यशाला का संयोजन प्रीति गुलवानिया और किरण वर्मा ने किया। सर्वप्रथम कार्यकर्ताओं स्वाति यादव, उमा फूलमाली, कन्हैया फूलमाली, खुशी अग्रवाल, शैली सोनी ने पुष्पगुच्छ से डाॅ. पंडित का स्वागत किया। अमन सोनी ने स्वागत भाषण देते हुए डाॅ. प्रमोद पंडित के व्यक्तित्व से सदन को परिचित करवाया।
सफलता के बताये सूत्र
डाॅ. प्रमोद पंडित ने अपने प्रभावी व्याख्यान में विद्यार्थियों को जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए अनुभवजन्य सफलता के सूत्र बताये। उन्होंने कहा कि समय का अधिकतम सही उपयोग सफलता की कुंजी है। सोशल मीडिया, फेसबुक, व्हाट्सअप, इंस्टाग्राम का न्यूनतम उपयोग करें। मोबाइल के माध्यम से आप अपनी पढ़ाई को मजबूती प्रदान करें। निराशा मन में न आने दें। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का मुख्य ध्यान युवाओं को आत्मनिर्भर बनाना है। स्वरोजगार एक बहुत अच्छा विकल्प है। इस दिशा में भी आप सोचिये। उन्होंने भगवान बुद्ध के जीवन से संबंधित दृष्टांतों के माध्यम से विद्यार्थियों को शिक्षा दी और उन्हें प्रेरित किया।
कॅरियर सेल की की सराहना
डाॅ. प्रमोद पंडित ने कहा कि पीजी काॅलेज बड़वानी का कॅरियर सेल पूरे मध्यप्रदेश में अपनी विशिष्ट पहचान बनाये हुए है। प्रतिभाशाली कार्यकर्ता निरंतर रचनात्मक गतिविधियां सम्पन्न कर रहे हैं।
संचालन वर्षा मुजाल्दे ने किया। आभार प्रदीप ओहरिया ने व्यक्त किया। नंदिनी मालवीया, तनिशा राठौड़, सुभाष चैहान आदि ने सहयोग प्रदान किया।