धार बालाघाट भोपाल मंदसौर मध्यप्रदेश राजनीति

संत रविदास समरसता यात्रा का दूसरे दिन गाँव-गाँव में हुआ भव्य स्वागत

संत रविदास समरसता यात्रा का दूसरे दिन गाँव-गाँव में हुआ भव्य स्वागत

कलश यात्राएँ निकली, सजी रंगोली,
संत रविदास जी के भजनों की प्रस्तुति हुई
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सिंगरौली के बैढ़न से किया शुभारंभ

भोपाल : बुधवार, जुलाई 26, 2023

संत शिरोमणि श्री रविदास जी की समरसता यात्रा का दूसरे दिन पाँच जिलों के सैकड़ों गाँवों में नागरिकों ने हर्षोल्लास के साथ पुष्प-वर्षा कर स्वागत किया। जगह-जगह स्थानीय नृत्य एवं अन्य प्रस्तुतियों के माध्यम से नागरिकों ने खुशी का इजहार किया। यात्रा के दौरान जन-संवाद के माध्यम से संत रविदास के संदेश एवं दर्शन को जनता तक पहुँचाया गया।

27 जुलाई की समरसता यात्रा का रूटसंत शिरोमणि रविदास समरसता यात्रा 27 जुलाई को प्रथम रूट पर नीमच की यात्रा जो मंदसौर पहुँची है, मंदसौर रूकेगी, द्वितीय रूट पर धार की यात्रा बड़वानी, तृतीय रूट पर श्योपुर की यात्रा मुरैना, चतुर्थ रूट पर बालाघाट की यात्रा सिवनी एवं पाँचवें रूट पर सिंगरौली की यात्रा सीधी में नागरिकों के मध्य पहुँचेगी।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंगरौली के बैढ़न में संत शिरोमणि रविदास जी के पादुका एवं कलश का पूजन-अर्चन कर पाँचवीं यात्रा का शुभारंभ किया। धार जिले के बदनावर में औद्योगिकी नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, मंदसौर के झारड़ा में वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा, बालाघाट के लालबर्रा में गो-संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष स्वामी श्री अखिलेश्वरानंद और पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर बिसेन, नीमच में विधायक श्री दिलीप सिंह परिहार और श्योपुर में सहरिया विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री तुरसनपाल बरैया यात्रा में शामिल हुए। सभी मंत्रीगण और जन-प्रतिनिधियों ने श्री रविदास जी के दर्शन एवं संदेशों को अपने जीवन में आत्मसात करने का आहवान नागरिकों से किया।

धार

बदनावर में जन-संवाद में औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने कहा कि संत शिरोमणि श्री रविदास महाराज का भव्य मंदिर हमारे प्रदेश में बनाया जाना हमारे लिए गर्व और सौभाग्य का विषय है। यात्रा को लेकर पूरे जिले में उत्साह देखा जा रहा है। कार्यक्रम को अन्य जन-प्रतिनिधियों ने भी संबोधित किया। स्थानीय लोगों ने पुष्प-वर्षा कर यात्रा का स्वागत किया। यात्रा लाबरिया होते हुए सरदारपुर पहुँची जहाँ पूर्व विधायक वेलसिंह भूरिया, संजय सिंह बघेल सहित अन्य जन-प्रतिनिधियों ने संत श्री रविदास जी के चित्र पर माल्यार्पण कर पूजन-अर्चन किया। ग्रामीणों ने उत्साह यात्रा का स्वागत किया। यहाँ से यात्रा सरदारपुर से राजगढ़ की और आगे बड़ी, जहाँ नगर में यात्रा भव्य रूप ले लिया। इसके बाद यात्रा ने रिंगनोद होते हुए कुक्षी विकासखंड में प्रवेश किया।

मंदसौर

संत शिरोमणि श्री रविदास समरसता संदेश यात्रा बुधवार को मंदसौर जिले के झारड़ा से प्रारंभ हुई। वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा ने यात्रा का स्वागत किया। यात्रा का जगह-जगह पर जनता के द्वारा भव्य स्वागत किया गया। यात्रा का मल्हारगढ़ विधानसभा क्षेत्र के गांव अरनियादेव, बरखेड़ादेवडुंगरी, पहेड़ा, काचरियानों, मोल्याखेडी, चंगेरी, सूठोद, पिपलियामंडी, सोनी, अमरपुरा एवं जेतपुरा तथा मंदसौर विधानसभा क्षेत्र के गाँव बाजखेड़ी, बहादरी, मेनपुरिया, साबाखेड़ी, गुराडियादेदा, सिंदपन, धारियाखेड़ी, रेवास देवड़ा, गुजरदा, नौगांवा, मिर्जापुरा, अघोरिया, रयालता, रिच्छाबच्चा एवं डिगाँवमाली में नागरिकों ने स्वागत कर सामाजिक सद्भाव और समरसता का संदेश दिया। मल्हारगढ़ तथा मंदसौर में जनसंवाद भी हुए।

श्योपुर

श्योपुर जिले में समरसता यात्रा सहरिया विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री तुरसनपाल बरैया, मध्यप्रदेश बाँस एवं बाँस शिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष एवं यात्रा के प्रभारी श्री घनश्याम पिरोनिया, विधायक श्री सीताराम आदिवासी ने स्वागत किया। यात्रा का जिले के विभिन्न ग्रामों में पहुँचने पर ग्रामीणों ने भव्य स्वागत किया। बड़ी संख्या में महिलाएँ कलश यात्रा में शामिल हुई। सेमल्दा, ढोढर, ओछापुरा, वीरपुर, गढी, विजयपुर आदि ग्रामों में जनसंवाद कार्यक्रम हुए। वीरपुर में रात्रि विश्राम के दौरान संत रविदास महाराज के भजनों पर आधारित भजन संध्या हुई। टेटरा तिराहे से यात्रा को मुरैना जिले के लिए रवाना किया गया।

बालाघाट

संत रविदास समरसता यात्रा का दूसरे दिन बालाघाट जिले के लालबर्रा विकासखंड के वैनगंगा प्रवेश द्वार, ग्राम गर्रा पहुँचने पर भव्य स्वागत हुआ। यात्रा के प्रभारी एवं मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के उपाध्यक्ष डॉ. जितेंद्र जामदार ने जनसंवाद में कहा कि यह बहुत ही अनूठी यात्रा है। संत रविदास जी का समाज उत्थान में अभूतपूर्व योगदान रहा है। ग्राम कनकी, बेहरइ, लवादा, बिरसोला, मिरेगांव, बकोडा, लालबर्रा में यात्रा का भव्य स्वागत आतिशबाजी के साथ किया गया। जनमानस ने संत रविदास जी की चरण पादुका के दर्शन कर पूजन किया। लालबर्रा में जनसंवाद में मध्यप्रदेश गौ-संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष स्वामी अखिलेश्वरनंद जी, पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर बिसेन, समाजसेवी श्री सत्यनारायण अग्रवाल ने संत रविदास जी के जीवन दर्शन और शिक्षाओं पर प्रकाश डाला।

नीमच

जिले के नयागाँव से संतशिरोमणि श्री रविदास मंदिर निर्माण समरसता संदेश यात्रा मंगलवार को देर रात नीमच शहर पहुँची। यात्रा मुख्य बाजार होते हुए, शहर के भारत माता चौराहे पर पहुँची, जहाँ जन-संवाद को संबोधित करते हुए एम.एस.एम.ई.मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा कि संत शिरोमणि श्री रविदास जी महाराज ने सामाजिक समरसता पर आधारित समतामूलक समाज के निर्माण का संदेश दिया। उन्होंने समाज के सभी लोगों को मिल-जुलकर रहने और ज्ञान के मार्ग पर चलकर ईश्वर की आराधना पर बल दिया।

विधायक श्री दिलीपसिंह परिहार ने कहा, कि हम सभी रविदास जी महाराज के जीवन-दर्शन को अपने जीवन में अपनाएँ और समतामूलक समाज निर्माण में सहभागी बनें। महामंडलेश्वर सुरेशानंद जी शास्त्री ने कहा, कि संत शिरोमणि श्री रविदास जी के जीवन चरित्र के माध्यम से समाज को बहुत कुछ प्राप्त हुआ है। हम सब एक भाव से मिल-जुलकर रहें और प्रदेश के विकास में सहभागी बने। डॉ. मिथिलेश नागर ने संत शिरोमणी श्री रविदासजी के जीवन-दर्शन को आत्मसात करने और सामाजिक समरसता के संदेश को जन-जन तक पहुँचाने का आहवान किया।

About The Author

Related posts