विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
September 25, 2022

राजगढ़ – रक्तदान से जरूरतमंद व्यक्ति के जीवन की रक्षा होती है – कलेक्टर


स्वैच्छिक रक्तदान अभियान अमृत महोत्सव 17 कोजिले के विभिन्न 9 स्थानों पर लगेंगे रक्तदान शिविर

कबीर मिशन समाचार/राजगढ़,
15 सितम्बर, 2022,


राजगढ़ । कलेक्टर हर्ष दीक्षित ने कहा है कि किसी व्यक्ति द्वारा स्वैच्छा से किए गए रक्तदान से दुर्घटना के शिकार लोगों के जीवन की रक्षा करता है, खून की कमी एनीमिया के रोगी, शिशु के जन्म के समय जरूरत गर्भवति माताओं, आर.एच. नेगेटिव माताओं में षिषुओं की जीवन रक्षा तथा कैंसर, थैलसीमिया आदि रोगियों के काम आता है। रक्तदान सभी को करना चाहिए। यह अपील कलेक्टर श्री दीक्षित ने 2022 को जिले में स्वैच्छिक रक्तदान अभियान अमृत महोत्सव अंतर्गत 17 सितम्बर, 2022 को जिले के विभिन्न 9 स्थानों में आयोजित होने वाले स्वैच्छिक रक्तदान शिविर की सफलता के लिए आयोजित कार्यशाला सह पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए कही।


उन्होंने जिले के नागरिकों से कहा कि आयोजित होने वाले प्रत्येक शिविर में कम से कम 100 व्यक्ति स्वैच्छिक रूप से अवष्य रक्तदान करें। रक्तदान के प्रति जनजागरूकता हो। जनजागरूकता एवं पोर्टल पर रक्तदान हेतु पंजीयन कराने हेतु उन्होंने नगरीय निकायों में ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से तथा ग्रामीण अंचलों में मुनादी कर प्रचार कराने निर्देशित किया।
इसके साथ ही उन्होंने रेयर ब्लड गु्रप के ऐसे व्यक्ति जो स्वैच्छा से रक्तदान करना चाहते है, का पोर्टल पर पंजीयन कराने, सूची बनाने तथा आवष्यकता होने पर उनका उपयोग करने के निर्देष मुख्य चिकित्सा एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी को दिए।

प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान अंतर्गत
निक्षय मित्र योजना का जिले में शुभारंभ


निक्षय मित्र योजना का शुभारंभ जिले में कलेक्टर श्री दीक्षित, मुख्य चिकित्सा एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी, जिला क्षय अधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, एन.एच.एम. द्वारा क्षय मरीज सनखेड़ी के श्री हरीसिंह को फूड बास्केट वितरण कर किया गया।
प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान की परिकल्पना वर्ष 2025 तक प्रधानमंत्री द्वारा ग्लोबल सब्मिट में घोषणा की गई थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वर्ष 2030 तक भारत को क्षय रोग से मुक्त करने का लक्ष्य रखा था।

इस अभियान का 09 सितम्बर, 2022 को वर्चुअल शुभारंभ महामहिम राष्ट्रपति द्वारा किया जा चुका है। इसके अंतर्गत निक्षय पोर्टल 2.0 से मरीज को उपचार एवं डीबीटी आदि की जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। साथ ही निक्षय पोर्टल 2.0 से मरीज को उपचार एवं डीबीटी आदि की जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। साथ ही निक्षय पोर्टल पर दर्ज निक्षय मित्र जो कि जनप्रतिनिधि, एन.जी.ओ., कार्पोरेट सेक्टर एवं अन्य व्यक्तिगत रूप से टीबी मरीजों की सहायता हेतु जिले में निक्षय मित्र बनाए गए है। जो कि क्षय मरीजों को न्यूट्रीशियन सपोर्ट, एज्यूकेशन सपोर्ट एवं अन्य सामाजिक सहायोग प्रदान किए जाने हेतु वचनबद्ध रहेगें।


इसी क्रम में कलेक्टर श्री दीक्षित की अध्यक्षता में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला क्षय अधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक आदि के द्वारा व्यक्तिगत रूप से फूड बास्केट (चना, दाल, आटा आदि) उपचार क्षय रोगी सनखेड़ी के श्री हरिसिंह को प्रदान की गई।
कलेक्टर श्री दीक्षित ने निक्षय मित्र के रूप में दर्ज जनप्रतिनिधियों से भी अधिक से अधिक उपचाररत क्षय मरीजों को कम से कम छः माह तक फूड बास्केट/न्यूट्रीशन सपोर्ट प्रदान कराने की अपील की है। जिससे आर्थिक रूप से कम से कम क्षय रोगियों को उपचार के दौरान पोषण व्यवस्था प्राप्त होती रहे।

उन्होंने बताया कि जिले में कुल 1313 उपचाररत मरीजों में से जो अत्यंत ही आर्थिक रूप से कमजोर है उनकी सहायता अनिवार्य रूप से किए जाने की रूप रेखा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा तैयार कराई गई है। जिससे अधिक से अधिक रोगी लाभांवित हो सके।
कार्यशाला के प्रारंभ में मुख्य चिकित्सा एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पिप्पल ने स्वैच्छिक रक्तदान अमृत महोत्सव के उददेष्य बताए। उन्होंने बताया कि जिले में 17 सितम्बर, 2022 को मंगल भवन राजगढ़, अग्रवाल धर्मशाला ब्यावरा, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सुठालिया, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खिलचीपुर, सिविल अस्पताल जीरापुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खुजनेर, सिविल अस्पताल नरसिंहगढ़, सिविल अस्पताल सारंगपुर तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पचोर में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किए जाएंगे।


इस अवसर पर इलेक्ट्रॉनिक-प्रिन्ट मीडिया के प्रतिनिधि, जनप्रतिनिधि, संगठनों के प्रतिनिधि, मुख्य चिकित्सा एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दीपक पिप्पल, सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ. राजेन्द्र कटारिया, ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. धर्मेन्द्र भदौरिया आदि चिकित्सकगण ने प्रतिभागिता की।