ग्राम पंचायत नेवड में सरपंच- सचिव की मनमानी,किया जा रहा मनरेगा का काम जेसीबी से,भुगतान में भी घोर लूटमारी

कबीर मिशन समाचार।

नीमच। जनपद पंचायत नीमच की ग्राम पंचायत नेवड़ में सचिव मदन लाल धाकड़ और सरपंच पुरुषोत्तम की मनमानी सामने आई है। पंचायत में जेसीबी से कार्य प्रतिबंधित होने के बावजूद पर्कुलेशन टैंक निर्माण कार्य की खुदाई मनरेगा की जगह जेसीबी से कराई जा रही है।यहां मनमानी का यह आलम है कि 5 हज़ार से अधिक के भुगतान बिना बिल वाउचर से ही कर दिए गए हैं, यही नहीं इनके द्वारा नियमों का उल्लंघन कर लाखों की खरीदी व भुगतान किए गए हैं। सरकार मनरेगा में जहां एक तरफ सौ दिन का रोजगार देकर ग्रामीण क्षेत्र को प्रबल करने के लिए प्रयासरत है वही अपनी लालसा पूरी करने के लिए सरकार की योजना में सेंध लगाई जा रही हैं और ग्रामीण अंचल के बेरोजगार परिवारों को रोजगार देने की बजाए जेसीबी मशीन से कार्य करवा कर बेरोजगार किया जा रहा हैं। सरपंच से चर्चा करने पर उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में जेसीबी के माध्यम से काम हो रहा है पहले वो बंद करवाओ में अपने निजी खर्च पर मनरेगा योजना में जेसीबी से कार्य करवा रहा हूं। सरपंच के इस जवाब से प्रतीत होता है कि वे इस कार्य का बिल नही लगाएंगे, बावजूद उसके पंचायत के लाखो के बिल पास हो जाते है। वही उक्त मामले में सचिव से जब चर्चा की गई तो उनका कहना था कि इसके बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं और पंचायत के सभी काम सरपंच साहब करवाते हैं इसमें मैं क्या कर सकता हूं। एक शासकीय कर्मचारी द्वारा इस तरह की गई बात से ही प्रमाणित होता है कि दोनों आपसी सांठगांठ से नियमों के विपरीत कार्य कर चांदी काटने में लगे हुए हैं।


भुगतान में धांधली नेवड़ ग्राम पंचायत में 15 मई 2022 को संत रविदास जयंती मनाने के लिए स्वयं सचिव ने अपने खाते में 2000 रुपए का भुगतान किया। 26 मई 2022 को स्वामित्व योजना अंतर्गत चुना खरीदी भाड़ा सहित लाइन करने की मजदूरी का 4600 रु भुगतान वाउचर पर किया गया। जिसमें 1000/- रुपए चुना खरीदी व भाड़ा है एव 300 रुपए प्रति व्यक्ति के मान से 12 व्यक्तियों को 3600 रुपए का मजदूरी भुगतान किया गया। 6/09/22 से 4/10/22 तक लगभग 2,12,099/- माल खरीदी का भुगतान वाउचर से किया गया है जिसका प्रमाण पोर्टल पर मौजूद। 2 नवंबर 2022 को स्ट्रीट लाइट कार्य का दो व्यक्तियों को 10 दिन का 500 रुपए प्रति व्यक्ति के मान से 10,000/- रुपए का भुगतान वाउचर पर किया गया है। संबल योजना अंतर्गत अंत्येष्टि सहायता राशि मृतक के परिजन को उसके खाते में भुगतान न करते हुए सचिव ने स्वयं अपने खाते में वाउचर से आहरण किया है। उक्त वाउचर पर लाभ पाने वाले परिजन व मृतक का कोई विवरण नहीं दिया गया है। उक्त पंचायत के सचिव द्वारा नव निर्वाचित सरपंच के कार्यकाल में इन कृत्य को किया गया है जो नियमों के विपरीत है और भ्रष्टाचार को दर्शाता है। पंचायत के अन्य मदों में लेन देन,खरीदी एवं सेवाओं पर किए गए भुगतानों के बिल एवं मूल्यों की दर का अवलोकन किया जाए तो कई अनियमितता सामने आने का अंदेशा हैं।
उक्त मामले में जिला पंचायत सीईओ गुरुप्रसाद ने कहा कि आपके द्वारा मामला संज्ञान में आया है तो इसकी जांच करवाई जाएगी और नियम अनुसार संबंधितो पर कार्रवाई की जाएगी।
वही मामले में जनपद सीईओ आर के पालनपुरे ने कहा कि जैसा कि आपने मुझे अभी बताया है तो मैं इसकी जांच करवा लेता हूं कहां जेसीबी से काम हो रहा है, कहां मशीनों से काम हो रहा है। उसके बाद ही आपको बता पाऊंगा। आपने बताया अगर ऐसा है तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
उपयंत्री जनपद पंचायत नीमच अनिल गहलोत ने बताया कि अभी वहां क्या काम चल रहा है मुझे पता नहीं है और जनपद पंचायत में साहब से पता कर लीजिए।