सीहोर। वन अधिकार पत्र के लंबित दावों को जल्द निराकरण करने के संबंध में शिवराज सिंह चौहान के सुपुत्र कार्तिक चौहान जन संवाद के दौरान दिया ज्ञापन

वन अधिकार पत्र के लंबित दावों को जल्द निराकरण करने के संबंध में मुख्यमंत्री के नाम युवाओं द्वारा माननीय शिवराज सिंह चौहान जी के सुपुत्र कार्तिक चौहान जन संवाद के दौरान ग्राम कोसमी में ज्ञापन दिया।

कबीर मिशन संवाददाता नसरुल्लागंज से मुकेश जामरे की रिपोर्ट।

शुक्रवार को बुधनी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम कोसमी में माननीय शिवराज सिंह चौहान जी के सुपुत्र कार्तिक चौहान का दौरा किया गया जहां ग्राम कोसमी में आदिवासी प्रतिनिधि राज्य मंत्री निर्मला सुनील बारेला जनपद प्रतिनिधि निशा भाई भंवर सिंह ग्राम सरपंच प्रेम सिंह बारेला द्वारा उनका स्वागत किया जिसमें गांव क्षेत्र के युवाओं द्वारा माननीय मुख्यमंत्री के नाम वन अधिकार पत्र के लंबित वादों को निराकरण करने हेतु ज्ञापन दिया और कहा कि वन मित्र पोर्टल के माध्यम से वन पत्र हेतु ऑनलाइनआवेदन किया गया था जिसका अभी तक किसी प्रकार से कोई निराकरण नहीं हुआ और कहा कि पूर्व सरपंच सचिव की काट झाट के कारण दावों को पंचायत सचिव व सरपंच द्वारा फाइलों को ही लेने से इंकार कर दिया कहा कि आपके दावों का हमारे पास कोई भी आदेश व रिकॉर्ड नहीं है।

हम आपके,वन अधिकार पत्र के दावों को स्वीकृत नहीं कर सकते क्षेत्र के ग्राम जामुनझील रफीकगंज कुरी सिवनिया फांग्या, धाई खेड़ा, संकोता सिराली दुर्गा नायक, भिलाई के युवाओं ने आवेदन मे यह भी कहा कि हमारे दादा परदादा इस इस वन भूमि विगत 50 वर्षो से काबिज है लेकिन अब तक हमें इस वन भूमि पर काबिज होने का कोई भी प्रमाण या वन अधिकार पत्र नहीं मिला।

वन मित्र पोर्टल पर चढ़ाएं गए वाद सिर्फ कागजों में ही दफन है उन्होंने मांग की कि जल्द से जल्द लंबित वादों का निराकरण किया जाए जिससे हम हमारे परिवार का लालन पालन व आगे उनका भरन पोषण कर सके अगर हमारे पास जमीन का कोई प्रमाण ही नहीं रहेगा तो वन विभाग या सरकार स्वतः ही बेदखल कर देगी।

जल्द हमारे निराकरण हेतु ग्राम पंचायत व क्षेत्रीय अधिकारी आदेशित किया जाए। कार्तिक चौहान ने कहा कि जल्द से जल्द इस विषय पर संज्ञान लेकर जल्द ही निराकरण किया जाएगा।आवेदन कर्ता में अरविंद बारेला, अजब बारेला, दिनेश सरपंच, लालाराम बारेला करण सिंह बारेला, भूर सिंह बारेला गोविंद बारेला, शिवराज बारेला बृजेश, सुरेश बारेला, कंपी बारेला, शामलाल बारेला एवं क्षेत्र गणमान्य नागरिक शामिल थे।