मध्यप्रदेश शाजापुर शिक्षा स्वास्थ

शाजापुर। नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करने के लिए महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को किया जागरूक

शाजापुर। नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करने के लिए महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को किया जागरूक

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण (नालसा) नई दिल्ली एवं मध्य प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के निर्देशानुसार आज 21 दिसम्बर 2023 गुरुवार को प्रधान जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष श्री ललित किशोर के निर्देशन में सचिव एवं जिला न्यायाधीश श्री राजेंद्र देवड़ा के मुख्य अतिथ्य में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन कर श्री कुशाभाऊ ठाकरे स्मृति शासकीय महाविद्यालय मक्सी के छात्र-छात्राओं को नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करने को लेकर जागरूक किया गया। इस अवसर पर श्री फारूक अहमद सिद्दीकी जिला विधिक सहायता अधिकारी एवं जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष श्री अखिलेश मंडलोई विशेष अतिथि के रूप भी मौजूद थे।

,

विधिक जागरूकता शिविर के दौरान छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं जिला न्यायाधीश न्यायाधीश श्री राजेंद्र देवड़ा ने कहा कि नशीले पदार्थो के सेवन से सामाजिक, आर्थिक, मानसिक एवं शारीरिक हानि होती है। अधिकांश अपराध नशीले पदार्थो के सेवन के बाद ही होते है। नशे की आदत से छुटकारा पाने के लिए पुनर्वास केंद्र एवं नशा मुक्ति केंद्र की व्यवस्था सरकार ने की है। नशा का सेवन करने वाले व्यक्ति के परिवार की स्थिति ठीक नहीं रहती है। आए दिन पति एवं पत्नी में झगड़ा होते रहता है। परिवार बिखर जाता है। परिवार को बिखरने से बचाने के लिए नशा से छुटकारा जरूरी है। आगे कहा कि युवाओं में नशे की लत एक गंभीर समस्या बन गई है। नशा पीडितों को विधिक सेवा प्रदान करने के लिए नालसा द्वारा एक योजना तैयार की गई है, जिसे नशा पीड़ितों को विधिक सेवाएं एवं नशा के उन्मूलन के लिए विधिक सेवाएं योजना 2015 कहा जाता है।

,

नशीले पदार्थों के सेवन से आए दिन लोगों की जान जा रही है। विद्यार्थियों से नशा नहीं करने की अपील की। इसके अतिरिक्त उन्होनें बताया कि महिलाएं एवं बच्चों की सुरक्षा के लिए कई कानून बनाएं गए है, कई कानूनों की जानकारी पर भी प्रकाश डाला, जिसमें घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम 2005, सम्पत्ति में महिलाओं का अधिकार, वसीयत, दान, उत्‍राधिकार अधिनियम, एनडीपीएस एक्ट धारा 138 एन.आई.एक्ट. मोटर दुर्घटना संबंधी प्रावधानों की जानकारी देकर छात्र-छात्राओं को जागरूक किया। श्री फारूक अहमद सिद्दीकी द्वारा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की संचालित योजनाओं जैसे निःशुल्क विधिक सहायता योजना, मध्यप्रदेश अपराध पीडित प्रतिकर योजना, मीडिएशन, जन उपयोगी, लोक अदालत आदि विषयों पर विस्तृत रूप से जानकारी दी गई।

,

इस अवसर पर कला संकाय महाविद्यालय के प्राचार्य श्री डॉ. सुनील वागले, श्रीमती मीनू गजाला खान IQ, AC प्रभारी एवं अन्य सहायक प्राध्यापक एवं 150 से अधिक छात्र-छात्राएं मौजूद थी। शिविर का संचालन प्राध्यापक श्रीमती डॉ. अर्पणा जैन ने किया।

About The Author

Related posts