उज्जैन एनडीआरएफ दे रही है नई पीढी को आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण

उज्जैन 10 दिसम्बर। आपदा जोख़िम न्युनीकरण के अंतर्गत मध्य प्रदेश एवं उत्तर प्रदेश में आपदा से बचाव एवं प्रबंधन हेतु विभिन्न संस्थानों और हितधारकों को सशक्त बनाने के लिए 11 एनडीआरएफ की टीमें लगातार मॉक अभ्यास, क्षमता निर्माण कार्यक्रम व जन जागरुकता के अभियान चला रही है, साथ ही समाज का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा बच्चे एवं शिक्षण संस्थानों में आपदा से बचाव हेतु स्कूल एवं कॉलेजों में स्कूल सुरक्षा एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर रही है। उसी कड़ी में आज 10 दिसम्बर को भारतीय स्कूल ज्ञानपीठ परिसर माधव नगर उज्जैन में कमान्डेंट श्री मनोज कुमार शर्मा के निर्देशन में एनडीआरएफ की टीम द्वारा स्कूल सुरक्षा एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया।

एनडीआरएफ के प्रशिक्षित एवं अनुभवी टीम द्वारा भूकंप एवं बांढ़ में बचाव के तरीके, सीपीआर, गले में फंसी बाहरी वस्तु के निकालने के तरीके, शारीरिक चोटों का अस्पताल पूर्व उपचार, तात्कालिक स्ट्रेचर बनाना, लिफ्टिंग और मूविंग के तरीके, रस्सी बचाव तकनीक, इम्प्रोवाइज्ड फ्लोटिंग डिवाइस (राफ्ट) बनाना, स्कूल सुरक्षा ड्रिल, हीट स्ट्रोक से बचाव, दामिनी ऐप का इस्तेमाल आदि विभिन्न विषयों पर प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

कार्यक्रम के दौरान भूकंप बचाव ड्रिल और आपातकालीन निकासी ड्रिल का भी अभ्यास किया गया। जिसमें स्कूल व कॉलेज के छात्र एवं छात्रा, शिक्षक तथा स्कूल के अन्य कर्मचारियों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया और इससे लाभान्वित हुए। इस अवसर पर भारतीय स्कूल की डॉ. तनुजा कादरे (डायरेक्टर) , श्रीमती नीलम महानिक (प्रधानाचार्य), श्रीमती रेहाना शेख (एनएसएस अधिकारी), ने एनडीआरएफ का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि एनडीआरएफ टीम द्वारा आयोजित जागरूकता कार्यक्रम बहुत प्रशंसनीय और शिक्षाप्रद है। इस कार्यक्रम से स्कूल के विद्यार्थी व अध्यापक लाभान्वित होंगे और आपदा के दौरान अपने और अन्य लोगों के जीवन को बचाने में अपना सहयोग प्रदान कर पाएंगे।