भोपाल मध्यप्रदेश

गणतंत्र दिवस 26 जनवरी पर शहीद सुपौत्र मूलचन्द मेधोनिया सम्मानित संगठनों द्वारा की सरकार से सम्मान की मांग

गणतंत्र दिवस 26 जनवरी पर शहीद सुपौत्र मूलचन्द मेधोनिया सम्मानित संगठनों द्वारा की सरकार से सम्मान की मांग

भोपाल। मध्यप्रदेश के एकमात्र अनुसूचित जाति और रविदास वंशीय समाज के महान पराक्रमी वीर मनीराम जी अहिरवार के सुपौत्र मूलचन्द मेधोनिया जो कि समाज सेवा, सहित्य सेवा व पत्रकार के रूप में जाने जाते हैं। जो कि अपने दादा जी जिन्होंने सन 19 42 के स्वतंत्रता आंदोलन में अंग्रेजी सेना से युद्ध लडा और उन्हें परास्त कर गांव से खदेड़ दिया था। जिन्हें राष्ट्रीय सम्मान दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास कर अभियान चला रहे हैं। तथा समाज को जाग्रत करके अपनी हक अधिकारों के लिए आगे आकर सर्वसम्मति से काम कर रहे हैं।

जिन्हें 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय अनुसूचित जाति और जनजाति वर्गों के परिसंघ मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय डॉ उदित राज जी पूर्व सांसद के जन्म दिन के मौके पर श्री मूलचन्द मेधोनिया जी को भारतीय संविधान के शिल्पकार बाबा साहब डॉ अम्बेडकर जी की छायाचित्र भेंट कर श्री ए. आर. सिंह जी प्रदेश अध्यक्ष अखिल भारतीय अनुसूचित जाति और जनजाति परिसंघ भोपाल एवं श्री महेश नंदमेहर जी राष्ट्रीय अध्यक्ष संत रविदास कल्याण फाउंडेशन भारत के द्वारा श्री मेधोनिया जी को डॉ. अम्बेडकर जी की छायाचित्र भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर श्री अशोक चिंतामण, श्री नोमेश नन्दमेहर, श्रीमती आरती भगोरिया, एवं सामाजिक संगठनों के विभिन्न प्रतिनिधियों की गरिमामयी उपस्थित रही।

सभी ने मध्यप्रदेश सरकार से मांग की है कि आजादी के इतिहास में रविदास वंशीय समाज के महान पराक्रमी वीर मनीराम जी अहिरवार को राष्ट्रीय शहीद का दर्जा दिया जाये। तथा लम्बे समय से अपने पूज्यनीय दादा जी वीर मनीराम अहिरवार जी को सम्मान दिलाने के लिए संघर्ष करने वाले उनके पौते श्री मूलचन्द मेधोनिया जी को सरकार भी सम्मानित करे। वह हमारी समाज के गौरव है।

About The Author

Related posts