उत्तरप्रदेश

विकास खंड मे जल जीवन मिशन योजना अंतर्गत लोगों को जागरुक करने के लिए आयोजन किया गया।

विकास खंड मे जल जीवन मिशन योजना अंतर्गत लोगों को जागरुक करने के लिए आयोजन किया गया।

जिला ब्यूरो चीफ योगेश गोविन्दराव कबीर मिशन समाचार पत्र कुशीनगर उत्तर प्रदेश।

रामकोला, कुशीनगर। मानव जीवन के लिए मूल भूत आवश्यकताओं में सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता है शुद्व जल की उपलब्धता,इस पर वीचार करने की जरूरत है,सरकार तो लगी है। अब हमको भी पूरे मनोयोग से लगना पड़ेगा।उक्त बातें राज्य पेयजल एवं स्वच्छता मिशन नामीगंगे ग्रामीण जलापूर्ति विभाग उत्तर प्रदेश जल जीवन मिशन के अंतर्गत विकास खण्ड रामकोला में आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में मुख्य अतिथि के रुप मे रामकोला के ब्लाक प्रमुख दिग्विजय सिंह लक्ष्मण ने अपने सम्बोधन में कही।ब्लॉक प्रमुख ने आगे कहा कि मानव जीवन के लिए महत्वपूर्ण आवश्यकता है पेय जल, लेकिन जिस तरह से पानी का संकट उत्पन्न हो।पेयजल की अनुपलब्धता आने वाले दिनो के लिए बहुत बड़ा खतरा है।

इस समस्या के मिशन के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी ने जल जीवन मिशन हर घर नल योजना का शुभारम्भ किया है, हम सभी को इस कार्यक्रम में सहयोग करना चाहिए ।खण्ड विकास अधिकारी वे विजय कुमार सिंह ने कहा कि जल के बिना जीवन सम्भव नहीं है। सभी को स्वच्छ जल उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है।

राज्य प्रशिक्षक राजमणी हिणी से कहा कि पूरी दुनिया मे मिठा जल 2.62/.धरती पर उपलब्ध है सही से पीने का पानी की ऊपलब्धता बहुत कम है। ऐसे में हम सभी का दायित्व है कि पीने का पानी का यपयोग ही करें। और धरती को रिपार्च के लिए वर्षा जल का संरक्षण करें। श्री त्रिपाठी ने बताया कि 80 %बीमारी दूषित जल के सेवन से एवम अस्वच्छ आदतों के कारण ही होता है।

यदि हम स्वछ जल का सेवन करे और स्वच्छ आदतों को अपना ले तो इस तरह की विमारियो के प्रभाव से बच सकते हैं।कार्यक्रम के समापन के उपरांत कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रमुख रामकोला दिग्विजय सिंह लक्ष्मण ने जल जीवन मिशन के तहत ग्राम पंचायत स्तरीय जन जागरूकता कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर परशिवम तिवारी, पवन आदि लोग उपस्थित रहे।

About The Author

Related posts