विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
October 6, 2022

रायबरेली। सताव। अनुसूचित जाति का मुख्यमंत्री आवास पिछड़ी जाति के अपात्र को दिए जाने की जांच एवं कार्यवाही के संबंध में कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन।

कबीर मिशन समाचार। रायबरेली उत्तरप्रदेश

रायबरेली। हम सब ग्रामवासी ग्राम पंचायत गोरी सताव विकास खंड सताव जिला रायबरेली के मूल निवासी हैं। हमारी ग्राम पंचायत में अधिकारी आलोक कुमार शुक्ला द्वारा सन् 2021-22 में ममता पति राकेश को अनुसूचित जाति का दिखाकर प्रधानमंत्री आवास दिया गया है।

ममता पत्नी राकेश पिछड़ी जाति (अहीर) निवासी राजस्व ग्राम निराशापुर ग्राम पंचायत गोरी सताव के रहने वाली है। इनके पास दो पक्के मकान आवास के ठीक सामने खड़जे के पास पश्चिम में बने हुए हैं। यही नहीं ममता की पुत्री नंदिनी के नाम मजदूरी का पैसा भेजा गया है वह नाबालिग है। और खाता संख्या किसी दूसरे का लगाकर पैसा निकाला गया है।

नंदिनी के आधार कार्ड में जन्मतिथि 2005 अंकित है। बैठक पंचायत भवन गोरी सताव में होनी थी। लेकिन वहां पर ना करा कर ए. एन. एम. सेंटर निराशापुर की गई। अधिकतर लोग पंचायत भवन में देख कर चले गए। स्थान परिवर्तन की सूचना किसी को नहीं दी गई। बहुत कम लोग ए.एन.एम. सेंटर निराशापुर पहुंचे।

बैठक में जब आवास सूची से नाम पढ़कर सुनाए गए, और कहा गया। कि यह सारे नाम अनुसूचित जाति के आवास बने हुए लोगों के हैं। इसी में जब ममता पत्नी राकेश का नाम आया तो ममता खड़ी हुई। तो लोगों द्वारा विरोध किया गया की ममता पति राकेश पिछड़े वर्ग (अहीर) जाति से हैं। इनको अनुसूचित जाति का आवास क्यों दिया गया है, शोर शराबा हुआ।

और लोगों द्वारा कहा गया कि इनके आवास का पैसा वसूला जाए। और यह आवास अनुसूचित जाति का है तो पात्र अनुसूचित जाति को दिया जाए। ममता पत्नी राकेश नाम का कोई व्यक्ति अनुसूचित जाति का ग्राम पंचायत गौरी में नहीं है। तब आडिट करने आए समस्त टीम द्वारा आश्वासन दिया गया। कि ममता पत्नी राकेश से वसूली कर किसी पात्र व्यक्ति को दिया जाएगा।

क्योंकि यह आवास अनुसूचित जाति का है। यही नहीं मनरेगा में काम करा रहे मनीष पिता लक्ष्मीशंकर अवस्थी, द्वारा अपने घर के तीन जॉब कार्ड बनवाए गए हैं। जॉब कार्ड संख्या 1- 627, 2 – 628, 3- 632, में 100-100 दिन का पैसा भेजा गया है। जबकि ग्राम पंचायत में किसी भी जॉब कार्ड धारक को 100 दिन का काम नहीं मिला है। ग्राम पंचायत में 100 दिन का काम चला ही नहीं। पात्र व्यक्तियों को ना आवास दिए जा रहे हैं। और ना ही मनरेगा में काम दिया जा रहा है।

जिससे सरकार की फजीहत हो रही है और लोगों का विश्वास सरकार से उठता जा रहा है। यदि कार्यवाही नहीं की गई तो हम सब ग्रामवासी धरने पर बैठ जाएंगे। अतः आपसे इसकी जांच किसी उच्च अधिकारियों से करा कर ग्राम पंचायत मंत्री सहित संलिप्त सभी कर्मचारियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही कर जाति के कोटे को सुरक्षित रखा जाए। जिससे हम सब को न्याय मिले आवास आईडी – 1406712632 ममता पति राकेश (अहीर) पिछड़ा वर्ग पार्थीगण- गयाप्रसाद, बिंदादीन, दिनेश कुमार, चंद्रकुमार, देवतादिन, पप्पू,विनोद, रामविलास, रामराज, शिवमंगल, आदि ग्राम वासियों ने मिलकर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा और सभी ने उचित कार्यवाही कर जांच करने की अपील की।