राजगढ़ स्वास्थ

राजगढ़/लीमाचौहान। खबर का असर लेकिन जिम्मेदार भी कम नहीं है केवल मूत्रालय की औपचारिकता सफाई स्थिति वहीं।

राजगढ़/लीमाचौहान। खबर का असर लेकिन जिम्मेदार भी कम नहीं है केवल मूत्रालय की औपचारिकता सफाई स्थिति वहीं।

लीमाचौहान। सार्वजानिक मूत्रालय मे गंदगी कि खबर लगते ही करवाई सफाई, लेकिन सफाई के नाम पर निभाई केवल औपचारिकता। भ्रष्टाचार चर्म पर? ऊपरी अधिकारी भी नहीं दे रहे ध्यान?

राजगढ़ मध्यप्रदेश। कबीर मिशन समाचार‌। लीमाचौहान/सारंगपुर/राजगढ़|- बरसात का समय है और नालियों से लेकर बस स्टैण्ड तक गंदगी बिखरी पड़ी है।एक तरफ सरकार स्वच्छ भारत अभियान चला रही है दूसरी ओर खुले आम लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। मुत्रालय का आंतरिक दृश्य बात करें सार्वजनिक मूत्रालय की तो मूत्रालय के बाहर आस पास गंदगी का अंबार लगा है।

मूत्रालय के अंदर देखने से लगता है सालभर से कोई सफाई नहीं हुई। इसकी खबर 5 जुलाई को कबीर मिशन समाचार मे प्रकाशित होने पर सम्बंधित लोग अलर्ट हुए, लेकिन अलर्ट तो हुए सफाई भी कि पर सफाई को औपचारिकता निभा दी गई।

जब हमने जाकर देखा तो मूत्रालय के अंदर सफाई तो हुई पर केवल ऊपरी सूखा कचरा उठाया गया, बाकी मूत्रालय कि हालत वैसी कि वैसी है, क्या किसी लिक़्विड का उपयोग आवश्यक नहीं समझा? क्या लिमाचौहान के मुखिया इसे सफाई के केमिकलों के बारे मे जानते नहीं?साथ हि बाहर भी स्थिति जब की तस बनी पड़ी है।

और बड़ी बात पास मे होटल होने से गंदगी के उपर बैठी मक्खीया खाद्य सामग्री पर आके बैठ जाती हैं। जिससे कई जानलेवा बिमारियां पनप रही है, लेकिन किसी का कोई ध्यान नहीं । साथ हि मूत्रालय के सामने कीचड हि कीचड फैला हुआ है। यहाँ तक कि मैंन रोड भी लगभग आधा कीचड मे दबा पड़ा है, जिससे वाहनो को भी समस्या हो रही है, जाम लगते है और दुर्घटनाओं कि सम्भावनाए बनी रहती है। आखिर किस तरह कि सफाई कि गई ?क्या अब भी कोई आला अधिकारी देंगे ध्यान या बनता रहेगा लिमाचौहान बीमारी का घर ?

About The Author

Related posts