विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
October 6, 2022

राजगढ़ – राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन जिलेभर में 13 सितम्बर, 2022 को किया जाएगा

कबीर मिशन समाचार। राजगढ़ मध्य प्रदेश,

पवन मेहरा,

राजगढ़। कलेक्टर हर्ष दीक्षित ने जिले के बच्चों, किशोर एवं किशोरियों से कहा है कि राष्ट्रीय कृमिमुक्ति दिवस का आयोजन ईस बार 13 सितम्बर, 2022 को किया जाएगा। इस दिन 01से 19 वर्ष के सभी बच्चों एवं किशोर,किशोरियों को एक साथ पेट की कृमि से मुक्ति के लिए एल्बेडाजॉल की मीठी गोली खिलाई जाएगी। तथा 16 सितम्बर, 2022 को कृमि मुक्ति के लिए मीठी गोली एल्बेडाजॉल के सेवन से छूटे हुए 01 से 19 वर्ष के बच्चों को दवा पिलाई जाएगी। उन्होंने अपील की है कि 01 से 19 वर्ष के बच्चों के पेट में कृमि ज्यादा होने से उनका मानसिक एवं शारीरिक विकास ठीक प्रकार से नहीं हो पाता है।

बच्चे बीमार एवं कमजोर रहते हैं। खून की कमी भी हो जाती है। बच्चा थका हुआ रहता है। उसका पढ़ाई और अन्य दिनचर्या के कार्यो में मन नहीं लगता है। क्योकि बच्चों के पेट में कृमि (पेट के कीड़े) होने पर वह बच्चे का पौष्टिक भोजन एवं रक्त चूस लेते है। जिससे बच्चे पर्याप्त भोजन लेने के बाद भी कमजोर होकर कुपोषण का शिकार हो जाते है। एवं रक्त की कमी के भी शिकार हो जाते है। उनका शारीरिक का मानसिक विकास रूक जाता है। 01 से 19 वर्ष के समस्त बच्चे राष्ट्रीय कृमिमुक्ति दिवस 13 सितम्बर, 2022 के दिन एक साथ एल्बेडाजॉल की किशोर, किशोरियां और 16 सितम्बर को छूटे बच्चों, किशोर एवं किशोरियां एल्बेडाजॉल की मीठी गोली आवश्यक लें।

बच्चे एल्बेडाजॉल की मीठी गोली भोजन के बाद चबाकर अनिवार्य खाएं। एल्बेडाजॉल की मीठी गोली प्रायवेट, सरकारी, आंगनवाड़ी, मदरसे, बाल सुधार गृह, आश्रम एवं छात्रावासों में 01 से 19 आयु वर्ग के बच्चों को प्रशिक्षित कर्मचारियों द्वारा खिलाई जाएगी। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का उद्देश्य बच्चों, किशोर, किशोरियों का कृमिनाश कर मिट्टी जनित कृमि संक्रमण की रोकथाम, स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर वृद्धि करना है। इसके अंतर्गत शासकीय अनुदान प्राप्त शालाओं, आदिवासी आश्रम शालाओं, प्रायवेट अनुदान प्राप्त शालाओं, केन्द्र शासित शालाओं, मदरसों, स्थानीय निकाय की शालाओं, आंगनवाड़ी केन्द्रों तथा किशोर न्याय अधिनियम 2015 अंतर्गत संचालित चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूट में 01 से 19 वर्षीय समस्त बच्चों का कृमिनाश किया जाएगा।

इस लिए किशोर न्याय अधिनियम 2015 अंतर्गत संचालित चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूट, शिशु गृह, बालक गृह, बालिका गृह, एवं बाल संप्रेक्षण गृह इत्यादि में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा भ्रमण कर अपनी निगरानी में समस्त 01 से 19 वर्षीय बच्चों को एल्बेडाजॉल गोलियों का उम्र अनुसार सेवन कराया जाना लक्षित किया गया है।इसमें कलेक्टर हर्ष दीक्षित ने जिला स्वास्थ्य विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग, महिला बाल विकास विभाग, आदिम विभागों व संस्थाओं के प्रमुखों से अभियान को लेकर चर्चा की है योजनानुसार राष्ट्रीय अभियान महत्व के अभियान के तहत 13 सितंबर को सभी पात्र बच्चो को कर्मीनाशक की गोली अवश्य खिलाएं। सीएमएचओ डॉ दीपक पिप्पल ने बताया की इस अभियान के लिए टीम बनाने के साथ अंतिम स्तर तक जवाबदारी सौंपी है।