प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के स्थानीय सेवा केंद्र पर गणतंत्र दिवस एवं बसंत पंचमी का कार्यक्रम आयोजित किया गया

कबीर मिशन समाचार, पचोर/राजगढ़,

विष्णु भिलाला,

पचौर ! ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय पचौर मे गणतंत्र दिवस एवं बसंत पंचमी का कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें डॉ बी.के. अग्रवाल (चिकित्सक),बलवंत सिंह रघुवंशी (सहायक प्रबंधक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया) उपस्थित रहे। ब्रह्माकुमारी सीमा दीदी ने बसंतोत्सव का महत्व बताते हुए कहा कि आज मां सरस्वती का प्रकट दिवस है।

आज के दिन प्रकृति में परिवर्तन होता है, चारों तरफ हरियाली होती है, पीले रंग का विशेष महत्व होता है लोग पीले रंग के वस्त्र धारण करते हैं, चारों तरफ खेतों में सरसों से खेत पीले हो जाते हैं, पीला रंग सात्विकता का प्रतीक माना जाता है।मां सरस्वती को सफेद वस्त्रधारी णी, वीणाधारीणी, हंसवाहिनी एवं कमल पुष्प पर विराजमान बताया गया ।सफेद वस्त्र पवित्रता ,शुद्धता ,की निशानी है,वीणा ईश्वर द्वारा प्राप्त ज्ञान का वर्णन करने वाली, कमल का फूल न्यारा प्यारा एवं उपराम अवस्था को प्राप्त करने की निशानी है।

हंस हमेशा मोती चुगता है,जो व्यक्ति समर्थ सोचता है व्यर्थ बातों में नहीं जाता है उसे हंसबुद्धि भी कहां जाता है।ब्रह्मा कुमारी वैशाली दीदी ने गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज के दिन हमें कई अधिकार प्राप्त हुए थे भारत का हर नागरिक स्वतंत्र है लेकिन दिनोंदिन लोगों में नैतिकता का पतन होता जा रहा है हर व्यक्ति को नैतिकता की आवश्यकता है इसके लिए आध्यात्मिकता का होना बहुत जरुरी है ,हमें बदलाव लाना बहुत जरूरी है हमारे भारत देश मे एकता, शांति, भाईचारा बना रहे।

सभी खुशहाल ,समृद्धिवान हो,फिर से भारत विश्वगुरु बने यही मंगल कामना हम सब आज के दिन करते हैं।डॉ. बी.के. अग्रवाल ने गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी तो वही बलवंत सिंह रघुवंशी ने वसंतोत्सव की शुभकामना दी ।कार्यक्रम में मां सरस्वती की चैतन्य मूर्ति विराजमान कि गई एवं आरती भी आयोजन किया गया ।कार्यक्रम के अंत में झंडा वंदन एवं राष्ट्रीयगान हुआ।एवं प्रसाद वितरण भी कि गई।