आगर-मालवा मध्यप्रदेश

गर्भवती महिलाओं और बच्चों के टीकाकरण हेतु युविन एप पर करना होगा ऑनलाईन पंजीयन – प्रभारी सीएमएचओ डॉ. गुप्ता

गर्भवती महिलाओं और बच्चों के टीकाकरण हेतु युविन एप पर करना होगा ऑनलाईन पंजीयन – प्रभारी सीएमएचओ डॉ. गुप्ता

टीकाकरण 01 अगस्त शुरू, अब देश भर में कही भी लगवा सकेंगे टीका

कबीर मिशन – संतोष कुमार सोनगरा जिला ब्यूरो चीफ आगर मालवा

आगर-मालवा, 12 जुलाई/गर्भवती महिलाओं और बच्चों का टीकाकरण 01 अगस्त से शुरू होगा, इस वर्ष गर्भवती और बच्चों के टीकाकरण में बड़ा बदलाव हुआ है, शासन द्वारा टीकाकरण के लिए कोरोना वैक्सीनेशन के लिए बने कोविन-एप की तर्ज पर अब यूविन एप तैयार किया है, 01 अगस्त से वैक्सीनेशन हेतु युविन एप्प पर ऑनलाईन पंजीयन करना होगा, जिसका फायदा यह होगा कि गर्भवती महिलाएं एवं बच्चों का देशभर में कहीं भी टीकाकरण हो सकेगा, यह बात प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश गुप्ता ने बुधवार को राष्ट्रीय कार्यक्रमों को लेकर आयोजित एक दिवसीय जिला स्तरीय कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कही। कार्यशाला में डब्ल्यूएचओ के सर्विलेंस मेडिकल ऑफिसर डॉ. एमएम जोशी एवं आयरन कृमिनाशक सलाहकार संभाग उज्जैन पुरूषोत्तम परमार भी उपस्थित रहे।


सीएमएचओ डॉ. गुप्ता ने कहा कि युविन एप के माध्यम गर्भवती महिलाएँ और 0 से 5 वर्ष के बच्चो का वैक्सीनेशन की सुविधा सुगम होगी। युविन पोर्टल से बर्थ डेट एवं बर्थ वेट रिकार्ड होगा। प्रसव के 01 घंटे में स्तनपान कराने की स्थति एवं् जन्मजात विकृति का ऑनलाइन रिकार्ड के माध्यम से सामान्य अथवा सिजेरियन प्रसव की स्थिति पता लगेगी तथा एएनएम आशा को ड्युलिस्ट प्राप्त होगी। अभिभावक अपने फोटो आई.डी के माध्यम से आनलाईन अथवा ऑनस्पाट पंजीयन करवाकर सेवा ले सकेंगे, एप से पंजीयन होने के बाद टीकाकरण होने पर डिजिटल राष्ट्रीय टीकाकरण कार्ड भी प्राप्त होगा। पोर्टल पर हितग्राही को मोबाईल नम्बर से लॉगिन करना होगा।

युविन पोर्टल पर टीकाकरण का रिकार्ड भी उपलब्ध रहेगा, जिससे पता चलेगा कि बच्चो एवं गर्भवती महिलाओं का कौन सा टीका लगाना है और कौन सा टीका लग चुका हैं। इस नयी व्यवस्था से गर्भवती महिलाएं अथवा बच्चे देश के किसी भी हिस्से में अपना टीकाकरण करवा सकेगे। कार्यशाला में एनीमिया मुक्त भारत अभियान, दस्तक अभियान, विश्व जनसंख्या स्थरीकरण माह 11 जुलाई से 11 अगस्त तक के आयोजन के बारे में आवश्यक जानकारी दी गई। साथ ही परिवार नियोजन कार्यक्रम, कुष्ठ नियंत्रण, अंधत्व नियंत्रण, क्षय नियंत्रण कार्यक्रमों की समीक्षा की तथा बारिश के मौसम मच्छरजनित बीमारियों की रोकथाम हेतु प्रभावी कदम उठाने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अमले को दिए गए।


कार्यशाला में जिला स्वास्थ अधिकारी डॉ. हरीश आर्य, इएनटी सर्जन डॉ.आर.एल मालवीय,जिला मिडिया अधिकारी आर.सी.ईरवार, जिला मलेरिया अधिकारी प्रेमलता डाबी, प्रभारी जिला कुष्ठ अधिकारी डा.मिथुन,चीफ ब्लाक मेडिकल आफिसर डा.राजीव बरसेना,डा.महेश निगवाल,डा.विजय यादव,डा.विवेक पुलैइया, डी.पी.एम. राकेश चौहान, बीसीएम राकेश पडिहार एवं जिले के समस्त बी,ई,ई, बीपीएम, बीसीएम एवं अन्य विभागीय कर्मचारी उपस्थित रहे।

About The Author

Related posts