राजगढ़

सारंगपुर – गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में सारंगपुर में धूमधाम से संविधान गौरव यात्रा निकाली गई

सारंगपुर – गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में सारंगपुर में धूमधाम से संविधान गौरव यात्रा निकाली गई

कबीर मिशन समाचार ।

अरुण मालवीय

सारंगपुर 9174479652

राजगढ़- सारंगपुर | प्रतिवर्ष कि तरह इस वर्ष भी, 74 वां गणतंत्र दिवस सारंगपुर में धूमधाम से मनाया गया है, जिसमें हर साल की तरह इस साल भी पैदल यात्रा *तिरंगा_नीला_संविधान_गौरव_यात्रा निकाली गई।26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान पूर्ण रूप से लागू हुआ था जिसको तैयार होने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा थायात्रा प्रारम्भ होने से पहले भीम आर्मी के वरिष्ठ पदाधिकारियो द्वारा 26 जनवरी के बारे मे सबको समझाया गया, संविधान कि प्रस्तावना पड़ी गई।

पैदल यात्रा मे सर्वप्रथम बाबा साहब डॉ अंबेडकर जो को मल्यार्पण कर प्रारम्भ किया गया, जो अकोदिया नाका डॉ अंबेडकर पार्क से चल कर सिविल हॉस्पिटल, एवं नगर के मुख्य मार्गो से होते हुए बस स्टेण्ड पहुंची बीच मे लगे सभी महापुरुषों कि प्रतिमाओ पर भीम आर्मी द्वारा माल्यार्पण किया गया, फिर बस स्टेण्ड पर महत्मा फुले जी को माल्यार्पण कर जयकारे के साथ पुनः डॉ अंबेडकर पार्क सारंगपुर मे पहुँच कर बाबा साहब कि प्रतिमा पर माल्यार्पण कर राष्ट्रगान कर यात्रा समाप्त कि गई।यात्रा के पश्चात् थाना प्रभारी महोदय एवं मेडम का भी स्वागत किया गया।

थाना प्रभारी आशुतोष उपाध्याय ने भी भीम आर्मी कि सराहना कि।भीम आर्मी के सभी कार्यकर्ता पदाधिकारियो कि बैठक संपन्न हुई जिसका संचालन तहसील अध्यक्ष डॉ राजेश वर्मा ने किया, और दिनांक 12_फरवरी को भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर रावण आज़ाद जी के नेतृत्व मे होने वाले महाआंदोलन के बारे मे चर्चा कि व अधिक से अधिक संख्या मे पहुंचने कि अपील कि गई।

कार्यक्रम मुख्य रूप से राजकुमार आज़ाद ज़िला मुख्य प्रभारी, रामेश्वर मालवीय ज़िला संरक्षक, ज़िला उपाध्यक्ष मुकेश मालवीय, जिल सचिव अर्पित राज अंबेडकर, तहसील अध्यक्ष डॉ राजेश वर्मा, गोकुल आज़ाद, तहसील संगठन मंत्री अरुण मालवीय, मुख्य प्रभारी रामसिंह बामनिया, राजगढ़ सचिव श्याम वर्मा, महिल विंग – माया मालवीय, गुंजन नरवले, टीना मालवीय, नेहा, मुस्कान, कोमल, आरती, पुष्पा,करीना,नेहा, काजल,मुस्कान,सोना, सीमा, बुली, रवीना, प्रियंका, एवं अन्य उपस्थित हुई। तथा भीम आर्मी गुलावता, भूराखेडी, ढाकनी,भ्याना, इकलेरा, मऊ, पड़ाना, साबरस्या, शंकर नगर, ईचीवाडा, एवं अन्य कई गांवो कि टीम उपस्थित हुई।

About The Author

Related posts