भोपाल मध्यप्रदेश सीहोर

सिहोर | जिले का एक ऐसा गांव बीसूखेड़ी जिसके श्मशान घाट में घुटने घुटने कीचड़।

सिहोर | जिले का एक ऐसा गांव बीसूखेड़ी जिसके श्मशान घाट में घुटने घुटने कीचड़।

कबीर मिशन समाचार जिला सीहोर।
बीसूखेड़ी से संजय सोलंकी की रिपोर्ट।

बीसूखेड़ी : कजलास पंचायत का गांव बीसुखेड़ी सिहोर जिले की आष्टा विधान सभा का गांव है और ये गांव पोलिंग बूथ नंबर 1 पर आता है ,पंचायत आदर्श हो चुकी हैं मगर गांव की हालत में आजादी के बाद से आज तक कोई सुधार नहीं आया है ग्रामीणों की माने तो गांव में 2 श्मशान घाट है एक समशान में जाने के लिए बीच में नाला पड़ता है जिस पर पुलिया ही नही हे इस कारण बारिश के समय कमर कमर पानी में जान जोखिम में डालकर शव को जलाने के लिए ले जाया जाता है।

वही दूसरे श्मशान घाट में जाने के लिए घुटने घुटने कीचड़ से निकल कर जाना पड़ता हैं आज ही एक मृत्यु हो गई जिसको जलाने के लिए कीचड़ में होकर ही जाना पड़ा वही ग्रामीणों का कहना है की सरपंच से लेकर विधायक को और कलेक्टर तक को गांव की समस्या से अवगत करवाया जा चुका है मगर लगता हैं प्रतिनिधि और सरकारी अधिकारी गहरी नींद में सोए हुए हैं अब लगता हैं की आने वाले चुनाव में चुनाव का ही बहिष्कार करेंगे,

इस विषय पर पत्रकार ने जब सरपंच को कॉल किया और पूछा की ग्रामीणों की समस्या का समाधान कब होगा तो सरपंच का जवाब आया की अभी हमारे पास समशान का बजट नही और विधायक साहब के पास बजट की मांग करेंगे , वही छेत्र के विधायक के पास कॉल किया और कहा की आप पंचायत को बजट क्यों नहीं दे रहे हैं तब विधायक जी ने बताया की पंचायत के पास हर काम का बजट फंड जारी किया जाता है मगर ए काम सरपंच का हे की वह बजट की राशि किस काम में उपयोग में लाते हैं सरपंच विधायक पर तो विधायक सरपंच पर दोनो एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाकर बचना चाहते है।

अब ग्रामीणों का कहना है की या तो जनप्रतिनिधि हमारी समस्या का हल करे या विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहा है अगर सत्ता धारी पार्टी का कोई भी नेता अगर वोट मांगने आया तो उसका स्वागत गधे पर बैठाकर और जूते की माला पहनाकर किया जायेगा और चुनाव का पूरी तरह बहिष्कार करेंगे।

कबीर मिशन समाचार

About The Author

Related posts