विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
September 25, 2022

पोरसा।तहसीलदार नरेश शर्मा ने तीन वर्षो से दलितों के रुके हुए रास्ते को खुलवाया

मुरैना/पोरसा।तहसीलदार ने स्वयं मौके पर खड़े होकर दलित परिवारों के लिए बनवाया रास्ता।जिला प्रशासन द्वारा भू माफिया के विरुद्ध किये जाने वाले अभियान के तहत तहसील पोरसा में अनुविभागीय अधिकारी राजीव समाधिया के निर्देशन में तहसीलदार नरेश शर्मा द्वारा शनिवार को ग्राम बरबाई में 3 वर्षो से बंद पड़े रास्ते को खुलवाया गया।

ग्राम की दलित बस्ती को मुख्य मार्ग से जोड़ने वाले रास्ते पर रूप सिंह पुत्र नबाब सिंह, जीतू, संजय, पप्पू पुत्रगण रूप सिंह द्वारा 3 वर्षो से अतिक्रमण कर रखा हुआ था।जिससे दलित परिवारों को पिछले 3 वर्षों से गांव से बाहर होकर जाने वाले रास्ते से घूमकर जाना पड़ता था।

दलित बस्ती में रहने वाले 25 से अधिक परिवारों को 1.5 किलोमीटर से अधिक का चक्कर लगाकर जाना पड़ता था।दलित परिवारों को आपात काल में ग्राम से बाहर जाने में अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ता था।

इस संदर्भ में ग्राम के रामबरन, रिंकू, कमलेश,लायक द्वारा विभिन्न जनसुनवाई में आवेदन प्रस्तुत किये गए।पिछले 3 वर्षों से रास्ते को खुलवाने के लिए विभिन्न प्रयास किये गए लेकिन हर बार रास्ते पर रूपसिंह और उसके परिवार के सदस्यों द्वारा अतिक्रमण कर लिया जाता था।

तहसीलदार पोरसा नरेश शर्मा द्वारा 21.02.2022 को अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया गया।जिसके पालन में आज तहसीलदार नरेश शर्मा स्वयं पुलिस प्रशासन और राजस्व विभाग के दल के साथ मौके पर पहुंचे।ग्राम बरबाई में दलित बस्ती को मुख्य मार्ग से जोड़ने वाले मार्ग पर किये जाने वाले अतिक्रमण को हटाया।साथ ही मौके पर जेसीबी और ट्रेक्टर की सहायता से अस्थायी रोड का निर्माण भी करवाया।

साथ ही अतिक्रमको पर 01-01 लाख रुपये का जुर्माना भी अधिरोपित भी किया गया।अतिक्रमको द्वारा यदि भविष्य में अतिक्रमण किया जाता है तो उनके विरुद्ध कठोर दंडात्मक कार्यवाही की बात तहसीलदार नरेश शर्मा ने कही।मौके से ही तहसीलदार पोरसा नरेश शर्मा द्वारा जनपद सी ई ओ पोरसा को स्थायी रोड निर्माण हेतु निर्दशित किया गया।

साथ ही दलितों की गाड़ियों को अपनी उपस्थिति में ही उक्त रास्ते से निकलवाया जिससे ग्राम के दबंग उन्हें परेशान ना कर सके।इस समूची कार्यवाही में उपनिरीक्षक अम्बाह पार्थ परिहार, पटवारी संध्या तोमर, यतेंद्र सिकरवार, गौरीशंकर, राधकृष्ण दंडोतिया, श्याम शर्मा, संदीप दंडोतिया, पंकज तोमर, संजीव शर्मा, वीरेंद्र त्यागी उपस्थित थे।